दिल्ली के गाजीपुर मछली बाजार में प्रशिक्षण-सह-स्वच्छता कार्यक्रम का आयोजन
दिल्ली के गाजीपुर मछली बाजार में प्रशिक्षण-सह-स्वच्छता कार्यक्रम का आयोजन

4 मार्च, 2024, दिल्ली

भाकृअनुप-केन्द्रीय मात्स्यिकी शिक्षा संस्थान, मुंबई ने गाज़ीपुर मछली, पोल्ट्री और अंडा समिति, दिल्ली के सहयोग से आज गाज़ीपुर मछली बाज़ार में 2 दिवसीय प्रशिक्षण और स्वच्छता कार्यक्रम का आयोजन किया।

भाकृअनुप द्वारा वित्त पोषित यह पहल 'स्वच्छता कार्य योजना और शहरी मछली बाजारों में मछली अपशिष्ट का वाणिज्यिक उपयोग' नामक परियोजना का एक हिस्सा था।

fish market  fish market

डॉ. रविशंकर सी.एन., निदेशक, भाकृअनुप-सीआईएफई, और डॉ. एन.पी. साहू, संयुक्त निदेशक, भाकृअनुप-सीआईएफई, कार्यक्रम के दौरान उपस्थित रहे।

स्वच्छता कार्यक्रम में सफाई मार्शलों और सीआईएफई टीम द्वारा मछली बाजार की गहन सफाई शामिल थी। मछली खुदरा विक्रेताओं/ थोक विक्रेताओं के लिए फील्ड प्रशिक्षण 'मछली अपशिष्ट से जैविक खाद तैयार करना: फिशएएनयूआरई: ए डू इट योरसेल्फ टेक्नोलॉजी' और 'स्वच्छ व्यवसाय को सक्षम करने के लिए विभिन्न प्लेटफार्मों पर डिजिटल भुगतान लेनदेन' पर आयोजित किया गया था। मछली विपणन गतिशीलता पर मछली खुदरा विक्रेताओं/ थोक विक्रेताओं के साथ इंटरैक्टिव चर्चाएं आयोजित की गईं। मछली के कचरे से जैविक खाद तैयार करने की एक डीआईवाई तकनीक  फिशएन्योर और डिजिटल भुगतान लेनदेन पर प्रशिक्षुओं को हिंदी और अंग्रेजी में पत्रक वितरित किए गए। फिशएन्योर के नमूने भी प्रदर्शित किये गये।

Np Sahu  Dr N P Sahu

गाज़ीपुर फिश वेंडर्स एसोसिएशन के अध्यक्ष, श्री रिज़वान ने भाकृअनुप-सीआईएफई टीम, मछली खुदरा विक्रेताओं, थोक विक्रेताओं और सफाई मार्शलों के साथ कार्यक्रम में भाग लिया।

भाकृअनुप-सीआईएफई परियोजना टीम ने मुंबई में 10 से अधिक शहरी मछली बाजारों और नागपुर में एक मछली बाजार में इसी तरह के कार्यक्रम आयोजित किए।

(स्रोत: भाकृअनुप-केन्द्रीय मात्स्यिकी शिक्षा संस्थान, मुंबई)

×