रतुआ रोधी गेहूं का उत्पादन - गेहूं जननद्रव्य में नयी प्रतिरोधकता की खोज

रतुआ रोधी गेहूं का उत्पादन - गेहूं जननद्रव्य में नयी प्रतिरोधकता की खोज. Source: http://journals.plos.org/plosone/article?id=10.1371/journal.pone.0167702रतुआ और स्पॉट ब्लॉच प्रतिरोधी गेहूं जननद्रव्य के मूल्यांकन अनुसंधान स्थान। स्रोत: http://journals.plos.org/plosone/article?id=10.1371/journal.pone.0167702 भारत ने हरित क्रांति के बाद से ही खाद्यान्न उत्पादन के विषय में स्वावलंबी है। इस दिशा में कृषि वैज्ञानिकों का निरंतर प्रयास सराहनीय है जिन्होंने फसल सुधार तथा कई बीमारियों के प्रति रोधी नई किस्मों के विकास में योगदान दिया। गेहूं उत्पादन की वृद्धि में आने वाली बड़ी समस्या रतुआ रोग की कई बीमारियां जैसे पत्ता रतुआ, तना रतुआ तथा धब्बा (स्ट्राइप) रतुआ हैं जो गेहूं पर हमला करते हैं। इन बीमारियों के प्रति रोधी स्रोत की जानकारी है जिसका प्रयोग गेहूं प्रजनकों द्वारा लम्बे समय से किया जा रहा है। इन बीमारियों के प्रति रोधिता प्राप्त करना कठिन हो सकता है क्योंकि रतुआ रोग परिवर्तनशील होने के साथ ही प्रजनकों को नाकाम कर देता है। संयुक्त राष्ट्र संघ के खाद्य एवं कृषि संगठन (एफएओ), रोम द्वारा 3 फरवरी, 2017 को चेतावनी जारी की गई है कि रतुआ विभिन्न गेहूं उत्पादकों क्षेत्रों में फैल रहा है। 2016 में सिसली, यूरोप में रतुआ का दोबारा प्रकोप देखा गया। पास्ता बनाने में उपयोगी गेहूं की ड्यूरम किस्म को भी इस बीमारी के प्रति संवेदनशील पाया गया।

p>भाकृअनुप के वैज्ञानिकों ने कृषि विश्वविद्यालयों के साथ मिलकर गेहूं के संपूर्ण जननद्रव्य संग्रह (~20,000 प्राप्तियां) का मूल्यांकन किया है जो एक ऐतिहासिक सफलता है। यह संग्रह भाकृअनुप- राष्ट्रीय पादप आनुवंशिक संसाधन ब्यूरो, नई दिल्ली के भारतीय राष्ट्रीय जीनबैंक में संरक्षित किया गया है। इससे संबंधित अध्ययन की प्राप्तियों को 'प्लोस वन' http://dx.doi.org/10.1371/journal.pone.0167702) में प्रकाशित कराया गया है जिसे 37 लेखकों ने लिखा है। विभिन्न रतुआ रोधी गेहूं किस्मों के प्रजनन के लिए जारी जीन संबंधी अनुसंधानों की दृष्टि से यह परिणाम बहुत व्यावहारिक उपलब्धि है। यह जीनबैंक संग्रहों पर होने वाला पहला व्यापक स्तरीय प्रयोग है।

जारी...

भारतीय कृषि अनुसंधान परिषद् द्वारा स्नातक उपाधि के लिए 22वीं आखिल भारतीय प्रवेश परीक्षा (AIEEA-UG-2017) 13 मई, 2017 (शनिवार) तथा परास्नातक उपाधि एवं छात्रवृत्ति (AIEEA-PG-2017) तथा Ph.D. में प्रवेश एवं कनिष्ठ/वरिष्ठ अनुसंधान अध्येतावृत्ति AICE-JRF/SRF(PGS)-2017 हेतु परीक्षाएं 14 मई, 2017 (रविवार) को आयोजित की जाएंगी I

जारी...

नई सोच को साझा करें

कृषि के विभिन्न उप-क्षेत्रों में विकास व अनुसंधान योग्य विषयों से सबंधित सुझाव तथा नवोन्मेषी आमंत्रण स्वीकार किये जा रहे हैं

जारी...