महानिदेशक, भाकृअनुप ने भाकृअनुप-नार्म में कृषि में एआई पर एमओओसी के समापन सत्र को किया संबोधित
महानिदेशक, भाकृअनुप ने भाकृअनुप-नार्म में कृषि में एआई पर एमओओसी के समापन सत्र को किया संबोधित

19 अप्रैल, 2024, हैदराबाद

कृषि में आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस (AI) पर व्यापक ओपन ऑनलाइन पाठ्यक्रम का समापन सत्र आज भाकृअनुप-राष्ट्रीय कृषि अनुसंधान प्रबंधन अकादमी, हैदराबाद के आजीवन शिक्षण केन्द्र में आयोजित किया गया।

DG, ICAR addresses Valedictory Session of MOOC on AI in Agriculture at ICAR-NAARM  DG, ICAR addresses Valedictory Session of MOOC on AI in Agriculture at ICAR-NAARM

डॉ. हिमांशु पाठक, सचिव (डेयर) एवं महानिदेशक (भाकृअनुप) ने उच्च गुणवत्ता वाली शिक्षा सामग्री के लिए लैब की मल्टी-इनपुट डिजिटल सामग्री उत्पादन इकाई का शुभारंभ किया। इस अवसर पर उन्होंने नया एमओओसी पोर्टल भी लॉन्च किया। डॉ. पाठक ने कृषि के प्राचीन क्षेत्र में आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस के महत्व पर प्रकाश डाला, जो जलवायु, मिट्टी की स्थिति और पानी की स्थिति के आधार पर निर्णय लेने में सहायक है। उन्होंने एनएआरईएस के लाभ के लिए एमओओसी जैसे डिजिटल प्लेटफार्मों के माध्यम से एआई और एमएल जैसी उन्नत अवधारणाओं को पेश करने के महत्व पर जोर देते हुए एआई उपकरणों को लागू करने से पहले कृषि विज्ञान की गहन समझ की आवश्यकता पर भी जोर दिया।

भाकृअनुप-नार्म के निदेशक, डॉ. चिरुकमल्ली श्रीनिवास राव ने हितधारकों के लिए ज्ञान की पहुंच तथा पहुंच में सुधार के लिए अकादमी की एमओओसी-आधारित गतिविधियों पर प्रकाश डाला और इस बात पर जोर दिया कि यह उन्नत डिजिटल सुविधाएं बनाने में एसएयू की सहायता कैसे करता है।

भाकृअनुप-नार्म के संयुक्त निदेशक, डॉ. जी. वेंकटेश्वरलू ने राष्ट्रीय कृषि अनुसंधान एवं शिक्षा प्रणाली तक अपनी पहुंच बढ़ाने के लिए भाकृअनुप-नार्म शिक्षा में नवाचारों का आग्रह किया।

एमओओसी के ऑनलाइन और ऑफलाइन शिक्षार्थियों को लाभ पहुंचाने के लिए कार्यक्रम हाइब्रिड मोड में आयोजित किया गया था।

कार्यक्रम के लिए कुल 4423 प्रतिभागियों ने अपना पंजीकरण कराया।

(स्रोत: भाकृअनुप-राष्ट्रीय कृषि अनुसंधान प्रबंधन अकादमी, हैदराबाद)

×