हर्बल अर्क व्यवसाय-1 की स्थापना पर उद्यमशीलता प्रशिक्षण कार्यक्रम का आयोजन
हर्बल अर्क व्यवसाय-1 की स्थापना पर उद्यमशीलता प्रशिक्षण कार्यक्रम का आयोजन

6 मई, 2024, आणंद, गुजरात

भाकृअनुप-औषधीय एवं सुगंधित पादप अनुसंधान निदेशालय (डीएमएपीआर), आनंद, गुजरात ने 29 मई से- 03 जुलाई 2024 तक अपने मेडी-हब टीबीआई एग्रीबिजनेस इनक्यूबेशन (एबीआई) केन्द्र के सहयोग से हर्बल एक्सट्रेक्ट बिजनेस-1 (एसएचईबी-1) की स्थापना पर 5 दिवसीय उद्यमशीलता प्रशिक्षण का आयोजन किया। मेडी-हब टीबीआई राष्ट्रीय कृषि नवाचार कोष, भाकृअनुप के तहत स्थापित एक कृषि व्यवसाय इनक्यूबेटर है। एसएचईबी-1 का मुख्य उद्देश्य औषधीय एवं सुगंधित पौधों (एमएपी) से जुड़े स्टार्ट-अप व्यवसाय में तेजी लाना है। जिसका समापन समारोह आज आयोजित किया गया।

Entrepreneurial Training on Setting of Herbal Extract Business-1  Entrepreneurial Training on Setting of Herbal Extract Business-1

डॉ. मनीष दास, निदेशक, भाकृअनुप-डीएमएपीआर, आनंद ने हर्बल अर्क व्यवसाय में एमएपी की भूमिका पर प्रकाश डाला। उन्होंने राय दी कि हर्बल उत्पादों की अर्थव्यवस्था, गुणवत्ता, सुरक्षा और प्रभावकारिता के लिए खेती से लेकर निष्कर्षण तक एमएपी की मूल्य श्रृंखला को मजबूत करने की आवश्यकता है।

Entrepreneurial Training on Setting of Herbal Extract Business-1  Entrepreneurial Training on Setting of Herbal Extract Business-1

कार्यक्रम में हर्बल अर्क व्यवसाय की संभावनाओं, कुशल निष्कर्षण प्रौद्योगिकियों, मानक संचालन प्रोटोकॉल, उत्पाद निर्माण, अर्क के मानकीकरण एवं गुणवत्ता परीक्षण पर चर्चा की गई।

प्रशिक्षण कार्यक्रम में कुल 9 प्रतिभागियों ने भाग लिया।

(स्रोत: भाकृअनुप-औषधीय एवं सुगंधित पादप अनुसंधान निदेशालय, आनंद, गुजरात)
 

×