श्री गिरिराज सिंह और डॉ. संजीव कुमार बालियान ने किया भाकृअनुप-एनआरसीई, हिसार का दौरा

16 अगस्त, 2019, हिसार

श्री गिरिराज सिंह, केंद्रीय पशुपालन, डेयरी एवं मत्स्यपालन मंत्री और डॉ. संजीव कुमार बालियान, केंद्रीय राज्य मंत्री पशुपालन, डेयरी और मत्स्यपालन ने आज भाकृअनुप-राष्ट्रीय अश्व अनुसंधान केंद्र, हिसार का दौरा किया।

Shri Giriraj Singh and Dr Sanjeev Kumar Balyan visits ICAR-NRCE, Hisar  Shri Giriraj Singh and Dr Sanjeev Kumar Balyan visits ICAR-NRCE, Hisar

श्री गिरिराज सिंह ने वैज्ञानिकों से आग्रह किया कि वे परिणामोन्मुखी हों, किसानों और उद्यमियों की जरूरतों को पूरा करें और आने वाली चुनौतियों का समाधान करने के लिए तैयार रहें।

दोनों मंत्रियों ने अश्वों की बीमारियों की निगरानी, निदान और टीकों का विकास, ग्लैंडर जैसी खतरनाक बीमारियों पर नियंत्रण और EHV1 एवं इक्वाइन इन्फ्लुएंजा में केंद्र के प्रयासों की सराहना की।

इस अवसर पर 'क्विनाएप्रामाइन सल्फेट की नैनो आधारित दवा वितरण' प्रौद्योगिकी का आविष्कार करने वाले भाकृअनुप के वैज्ञानिकों की टीम को एक पेटेंट प्रमाणपत्र भी सौंपा गया।

मंत्रियों ने गधे के दूध से बने मूल्यवर्धित उत्पादों को भी जारी किया। साथ ही, इन्फो-इक्विन संग्रहालय का दौरा किया।

डॉ. बी. एन. त्रिपाठी, निदेशक, भाकृअनुप-एनआरसीई ने संस्थान की हालिया उपलब्धियों और गतिविधियों के साथ-साथ सौंदर्य प्रसाधन और अन्य उत्पादों को विकसित करने के लिए गधे के दूध में उद्यमियों की रुचि के बारे में जानकारी दी।

(स्त्रोत: भाकृअनुप-राष्ट्रीय अश्व अनुसंधान केंद्र, हिसार)