श्री कैलाश चौधरी ने किया भाकृअनुप-डीआरएमआर, भरतपुर का दौरा

17 अगस्त, 2019, भरतपुर

श्री कैलाश चौधरी, केंद्रीय कृषि और किसान कल्याण राज्य मंत्री ने आज भाकृअनुप-सरसों अनुसंधान निदेशालय, भरतपुर का दौरा किया।

Shri Kailash Choudhary visits ICAR-DRMR, Bharatpur  Shri Kailash Choudhary visits ICAR-DRMR, Bharatpur

किसानों के साथ अपनी बातचीत के दौरान मंत्री ने देश में सरसों के उत्पादन और उत्पादकता को बढ़ाने के लिए किस्मों सहित जलवायु अनुकूल उत्पादन और संरक्षण प्रौद्योगिकियों को विकसित करने पर जोर दिया। श्री चौधरी ने किसानों को आत्मनिर्भर बनाने और ऋणी बनने के बजाय ऋण प्रदाता बनाने में मदद करने के लिए भारत सरकार के उद्देश्य और विजन पर प्रकाश डाला।

उन्होंने कृषि को अधिक लाभदायक बनाने के लिए एकीकृत खेती को अपनाने पर जोर दिया और किसानों से नौकरी चाहने वालों के बजाय नौकरी प्रदाता बनने का आग्रह किया।

श्री चौधरी ने स्थान विशिष्ट उच्च उपज वाली सरसों की किस्मों के साथ-साथ उत्पादन और संरक्षण प्रौद्योगिकियों के विकास में संस्थान के प्रयासों की सराहना की।

मंत्री ने केंद्र सरकार की किसान कल्याण योजनाओं पर प्रकाश डाला। उन्होंने वर्ष 2022 तक किसानों की आय दोगुनी करने के उद्देश्य को प्राप्त करने के लिए किसान समुदाय के सामने आने वाली चुनौतियों और समस्याओं को हल करने का आग्रह किया। श्री चौधरी ने अधिक-से-अधिक एफपीओ (किसान उत्पादक संगठनों) की स्थापना पर जोर दिया।

श्री चौधरी ने कुछ प्रगतिशील किसानों को उनके नवाचारों के लिए सम्मानित किया और परिसर में सामुदायिक केंद्र का उद्घाटन किया।

श्री चौधरी के साथ-साथ श्रीमती रणजीता कोली, संसद सदस्य, भरतपुर और किसानों ने परिसर में 600 पौधों के रोपण में भाग लिया।

डॉ. पी. के. राय, निदेशक, भाकृअनुप-डीआरएमआर, भरतपुर ने कहा कि निदेशालय और सरसों पर अखिल भारतीय समन्वित अनुसंधान परियोजना के द्वारा 197 उच्च उपज वाली श्वेत-सरसों की किस्मों सहित लगभग 250 स्थान विशिष्ट उत्पादन और संरक्षण प्रौद्योगिकियों का विकास किया गया है।

(स्रोत: भाकृअनुप-सरसों अनुसंधान निदेशालय, भरतपुर)