वाइब्रेंट नॉर्थ ईस्ट – 2019 का हुआ आयोजन

19 जून, 2019, इंफाल

श्री अनूप वधावन, सचिव, वाणिज्य और उद्योग, भारत सरकार ने आज 'वाइब्रेंट नॉर्थ ईस्ट - 2019' के 5वें संस्करण का उद्घाटन किया।

Vibrant North East - 2019 organizedश्री एम. के. मेरो, प्रमुख सचिव, बागवानी, नागालैंड सरकार; डॉ. एम. प्रेमजीत सिंह, कुलपति, सीएयू; श्री के. एन. राघवन, अध्यक्ष, रबर बोर्ड; श्री अरुण कुमार रॉय, उप-अध्यक्ष, चाय बोर्ड; श्रीमती ललथनपुई वनचंग, संयुक्त सचिव, मणिपुर सरकार; डॉ. अनीस अंसारी, आईएएस, अध्यक्ष, कृषि और ग्रामीण विकास केंद्र (CARD); श्री पी. एल. थंगा, अध्यक्ष, भारतीय खाद्य और कृषि परिषद, उत्तर पूर्व क्षेत्र और डॉ. ए. के. श्रीवास्तव, परियोजना निदेशक, कृषि और ग्रामीण विकास केंद्र ने भी इस अवसर के दौरान विशिष्ट अतिथि के रूप में अपनी उपस्थिति दर्ज की।

यह आयोजन 19 से 21 जून, 2019 तक कृषि महाविद्यालय, सीएयू, ईरोइसेंबा, इम्फाल में मणिपुर सरकार के सहयोग से कृषि और ग्रामीण विकास केंद्र और केंद्रीय कृषि विश्वविद्यालय, इंफाल, मणिपुर द्वारा आयोजित किया गया था।

आयोजन का मुख्य उद्देश्य युवाओं, महिला गैर सरकारी संगठनों और विकास एजेंसियों को राष्ट्रीय स्तर के संस्थानों, उद्योग, विशेषज्ञों और अधिकारियों के साथ बातचीत करने का मौका प्रदान करना था।

इस अवसर के दौरान ‘उत्तर पूर्व में निवेश की संभावनाओं और व्यापार के अवसरों’ पर एक विकास बैठक भी आयोजित की गई थी। बैठक के दौरान उत्तर पूर्वी क्षेत्र के व्यापार, निवेश और निर्यात क्षमता के विभिन्न तरीकों पर चर्चा की गई।

उद्योगों की पहचान करने और विभिन्न क्षेत्रों में निवेश के विवरणों को देखने के लिए - पड़ोसी देशों के साथ सीमा पार व्यापार के लिए अवसर, उत्तर पूर्वी क्षेत्र के विकास के लिए सरकार की पहल, क्षेत्र में पर्यटन गतिविधियों की प्रचुर संभावनाएँ, सुगंधित/औषधीय पौधों आदि के रोपण और प्रसंस्करण के अवसर जैसे कुछ मुख्य उद्देश्य थे।

इस बैठक में बांग्लादेश के 5 प्रतिभागियों सहित 45 से अधिक विशेषज्ञों ने अपनी उपस्थिति दर्ज की।

मणिपुर के विभिन्न जिलों के 500 से अधिक किसानों ने इस आयोजन में अपनी भागीदारी दर्ज की।

(स्रोत: केंद्रीय कृषि विश्वविद्यालय, इंफाल, मणिपुर)