राइसएक्सपर्ट ऐप पर व्यावहारिक प्रशिक्षण कार्यक्रम का हुआ आयोजन

21 जून, 2019, कटक

भा.कृ.अनु.प.-राष्ट्रीय चावल अनुसंधान संस्थान, कटक और एम. एस. स्वामीनाथन रिसर्च फाउंडेशन, चेन्नई ने आज संयुक्त रूप से कटक में राइसएक्सपर्ट मोबाइल ऐप पर एक दिवसीय प्रशिक्षण कार्यक्रम का आयोजन किया।

ICAR-National Rice Research Institute 

संगठनों ने कृषि विज्ञान केंद्र, कटक में एक गाँव ज्ञान केंद्र (वीकेसी) की भी स्थापना की।

डॉ. हिमांशु पाठक, निदेशक, भा.कृ.अनु.प.-एनआरआरआई, कटक ने उद्घाटन संबोधन के दौरान खेती में मोबाइल ऐप, निर्णय समर्थन प्रणाली जैसे आईसीटी उपकरणों के उपयोग पर जोर दिया। उन्होंने संस्थान द्वारा विकसित राइसएक्सपर्ट ऐप के बारे में भी बताया। डॉ. पाठक ने किसानों से राइसएक्सपर्ट ऐप के विभिन्न अनुप्रयोगों का सर्वोत्तम उपयोग करने का आग्रह किया।

National Rice Research Institute

श्री पी. सी. साहू, उप निदेशक (कृषि), कटक ने गाँव ज्ञान केंद्र, कटक में अपने संबोधन में स्थानीय परिवेश के अनुकूल नवीनतम कृषि प्रौद्योगिकियों को लोकप्रिय बनाने के लिए प्रिंट और इलेक्ट्रॉनिक मीडिया दोनों का उपयोग करने पर जोर दिया।

ओडिशा के दो जिलों और रिजिल्यन्स (RESILIENCE) परियोजना के कर्मचारियों के तहत छह गाँवों के लगभग 40 बीज किसानों को राइसएक्सपर्ट ऐप के उपयोग पर प्रशिक्षण दिया गया था।

National Rice Research Institute  ICAR-National Rice Research Institute

कार्यक्रम में कृषि विभाग के अधिकारियों के साथ भा.कृ.अनु.प.-एनआरआरआई, कटक और एम. एस. स्वामीनाथन रिसर्च फाउंडेशन, चेन्नई के वरिष्ठ अधिकारियों ने भाग लिया।

(स्रोत: भा.कृ.अनु.प.-राष्ट्रीय चावल अनुसंधान संस्थान, कटक)