भाकृअनुप-सिफरी ने मनाया राष्ट्रीय मत्स्य कृषक दिवस

10 जुलाई, 2019, बैरकपुर

भाकृअनुप-केंद्रीय अंतर्स्थलीय मात्स्यिकी अनुसंधान संस्थान, बैरकपुर ने आज अपने मुख्यालय में राष्ट्रीय मत्स्य कृषक दिवस मनाया।

ICAR-CIFRI celebrates National Fish Farmers’ Day  ICAR-CIFRI celebrates National Fish Farmers’ Day

श्री बंकिम हाजरा, विधायक, सागर द्वीप और अध्यक्ष, सुंदरवन विकास बोर्ड ने बतौर मुख्य अतिथि देश के दूरस्थ कोनों की सेवा हेतु की गई पहल के लिए संस्थान के कर्मचारी सदस्यों की सराहना की।

डॉ. वी. वी. सुगुनन, अतिरिक्त महानिदेशक (वित्तीय वर्ष) भाकृअनुप, नई दिल्ली ने अंतर्स्थलीय मत्स्य क्षेत्र की संभावनाओं और चुनौतियों पर बल दिया। उन्होंने खाद्य और पोषण सुरक्षा प्राप्त करने के लिए संस्थान की भूमिका को भी रेखांकित किया।

डॉ. मधुमिता मुखर्जी, अतिरिक्त निदेशक (तकनीकी), पश्चिम बंगाल सरकार ने भविष्य में मछली की जैव विविधता और प्रजातियों के विविधीकरण के संरक्षण के महत्त्व को रेखांकित किया।

उद्घाटन समारोह में नदी में जैव विविधता को बनाए रखने और संरक्षित करने के उद्देश्य से गंगा नदी में मछली के बच्चे को रिहा करके रेंचिंग (पशुपालन) कार्यक्रम को चिह्नित किया।

विशेषज्ञों ने संभावनाओं के बारे में चर्चा की और वर्तमान संदर्भ में अंतर्स्थलीय मत्स्य क्षेत्रों द्वारा सामना की जा रही विभिन्न समस्याओं के समाधान भी प्रदान किए।

5 विभिन्न राज्यों के लगभग 8 मत्स्य कृषकों को संस्थान द्वारा 'सर्वश्रेष्ठ मत्स्य कृषक पुरस्कार' से सम्मानित किया गया।

इस आयोजन में बिहार, ओडिशा, पश्चिम बंगाल, तेलंगाना और झारखंड के 150 से अधिक किसानों ने भाग लिया।

(स्रोत: भाकृअनुप-केंद्रीय अंतर्स्थलीय मात्स्यिकी अनुसंधान संस्थान, बैरकपुर)