भाकृअनुप-नार्म ने कृषि में उद्यमिता विकास पर संवेदीकरण कार्यक्रम का किया आयोजन

1 जून 2021, हैदराबाद

भाकृअनुप-राष्ट्रीय कृषि अनुसंधान प्रबंध अकादमी, हैदराबाद के ए-आइडिया, कृषि-व्यवसाय इनक्यूबेटर ने आज 'रानी लक्ष्मी बाई केंद्रीय कृषि विश्वविद्यालय (आरएलबीसीएयू), झाँसी, उत्तर प्रदेश के छात्रों के लिए कृषि में उद्यमिता विकास पर संवेदीकरण कार्यक्रम' का आयोजन किया।

डॉ. अरविंद कुमार, कुलपति, आरएलबीसीएयू, झाँसी ने अपने उद्घाटन संबोधन में देश में कृषि-स्टार्ट-अप का समर्थन करने वाली केंद्र और राज्य सरकारों की विभिन्न योजनाओं पर प्रकाश डाला।

डॉ. चौ. श्रीनिवास राव, निदेशक, भाकृअनुप-नार्म, हैदराबाद ने कृषि उद्यमिता के संभावित क्षेत्रों के बारे में बताया, जिनका उपयोग किया जाना बाकी है। उन्होंने कृषि विकास के लिए उद्यमिता को बढ़ावा देने की आवश्यकता पर भी जोर दिया।

ICAR-NAARM organizes Sensitization Programme on Entrepreneurship Development in Agriculture

डॉ. शिवरामन एन., सीईओ, ए-आइडिया, भाकृअनुप-नार्म, हैदराबाद ने इनक्यूबेशन और स्टार्ट-अप उद्योग की प्रक्रिया से अवगत कराया।

सुश्री अर्चना चिंडल, सीओओ, एमएलआईटी सॉल्यूशंस और उद्यमी, कुक्कूट पालन क्षेत्र ने भी एक सफल व्यावसायिक इकाई के लिए विचार को बदलने की यात्रा में अपने अनुभव साझा किए।

कार्यक्रम का उद्देश्य कृषि विश्वविद्यालयों और अन्य कॉलेजों के छात्रों को कृषि में उद्यमिता के अवसरों के बारे में जागरूक करना था।

लगभग 185 छात्रों और संकाय सदस्यों ने कार्यक्रम में आभासी तौर पर भाग लिया।

(स्त्रोत: भाकृअनुप-राष्ट्रीय कृषि अनुसंधान प्रबंध अकादमी, हैदराबाद)