भाकृअनुप-केंमृलअनुसं ने किया रबी किसान मेला का आयोजन

13 सितंबर, 2019, पलवल, हरियाणा

श्री मेहर चंद गहलोत, उपाध्यक्ष, हरियाणा पशुधन विकास बोर्ड और सदस्य, आईएमसी, भाकृअनुप-केंद्रीय मृदा लवणता अनुसंधान संस्थान, करनाल ने आज भाकृअनुप-केंमृलअनुसं द्वारा आयोजित 'रबी किसान मेला' का उद्घाटन किया। कृषि और किसान कल्याण विभाग, हरियाणा सरकार के सहयोग से नेताजी सुभाष चंद्र स्टेडियम, पलवल में मेले का आयोजन किया गया था।

ICAR-CSSRI organizes Rabi Kisan Mela ICAR-CSSRI organizes Rabi Kisan Mela

श्री गहलोत ने किसानों द्वारा बेहतर कृषि प्रौद्योगिकियों के उपयोग पर जोर दिया जो कृषि की आय को बढ़ा सकते हैं। उन्होंने टिकाऊ और लाभदायक कृषि उत्पादन सुनिश्चित करने के लिए शोधकर्ताओं, किसानों, विकासात्मक एजेंसियों और कृषि-उद्योगों सहित विभिन्न हितधारकों के बीच घनिष्ठ सहयोग के लिए भी आग्रह किया।

श्री गहलोत ने केंद्र सरकार द्वारा आरंभ की गई विभिन्न योजनाओं, जैसे मृदा स्वास्थ्य कार्ड योजना, प्रधान मंत्री बीमा योजना और प्रधानमंत्री कृषि सिंचाई योजना की सराहना की, जिसका उद्देश्य किसानों और ग्रामीण समुदायों को सशक्त बनाना है।

डॉ. पी. सी. शर्मा, निदेशक, भाकृअनुप-केंमृलअनुसं और अध्यक्ष, रबी किसान मेला ने इससे पहले किसानों से अपील की कि वे अच्छे रिटर्न पाने के लिए बागवानी, पशुधन, मत्स्य पालन और खाद्य प्रसंस्करण जैसे उच्च आय वाले उद्यमों को तेजी से अपनाएँ। उन्होंने वर्ष 2022 तक किसानों की आय को दोगुना करने का लक्ष्य रखने वाले विभिन्न सरकारी योजनाओं का लाभ उठाने पर जोर दिया।

इस अवसर पर पाँच प्रगतिशील किसानों को सम्मानित किया गया।

मेला के दौरान लवणता प्रबंधन, फसल विविधीकरण, एकीकृत खेती, बागवानी फसलों और मशरूम की खेती आदि के लिए विभिन्न उन्नत तकनीकों का प्रदर्शन किया गया।

इस मौके पर किसान-वैज्ञानिक गोष्ठी भी आयोजित की गई।

किसान मेले में लगभग 2600 किसानों ने भाग लिया।

(स्रोत: भाकृअनुप-केंद्रीय मृदा लवणता अनुसंधान संस्थान, करनाल)