अतिरिक्त सचिव, कृषि एवं किसान कल्याण मंत्रालय, भारत सरकार द्वारा भाकृअनुप-भारतीय सब्जी अनुसंधान संस्थान का भ्रमण तथा किसान वैज्ञानिक संवाद का किया संबोधन

22 सितम्बर 2022, वाराणसी

भाकृअनुप-भारतीय सब्जी अनुसंधान संस्थान, वाराणसी में डॉ. अभिलक्ष लिखी, अतिरिक्त सचिव, कृषि एवं किसान कल्याण मंत्रालय, भारत सरकार की उपस्थिति में किसान-वैज्ञानिक संवाद आयोजित किया गया।

अतिरिक्त सचिव, कृषि एवं किसान कल्याण मंत्रालय, भारत सरकार द्वारा भाकृअनुप-भारतीय सब्जी अनुसंधान संस्थान का भ्रमण तथा  किसान वैज्ञानिक संवाद का किया संबोधन  अतिरिक्त सचिव, कृषि एवं किसान कल्याण मंत्रालय, भारत सरकार द्वारा भाकृअनुप-भारतीय सब्जी अनुसंधान संस्थान का भ्रमण तथा  किसान वैज्ञानिक संवाद का किया संबोधन

मुख्य अतिथि  ने संस्थान के अनुसंधान प्रक्षेत्र का भ्रमण करते हुए किसानों से कृषि उत्पादन एवं विपणन से संबंधित विषयों पर चर्चा की साथ ही मृदा की गुणवत्ता तथा ड्रीप सिंचाई की महत्ता पर जोर दिया तथा उनके अनुसंधान कार्यों की सराहना की। साथ ही इस परिचर्चा में भाकृअनुप की बागवानी इकाई के सभी 22 संस्थान तथा भारत सरकार द्वारा पोषित 40 सेन्टर ऑफ एक्सीलेन्स (इण्डो इजराइल एवं इन्डोडच) के प्रतिनिधियों ने भी वर्चुआल रूप में भाग लिया।

अतिरिक्त सचिव, कृषि एवं किसान कल्याण मंत्रालय, भारत सरकार द्वारा भाकृअनुप-भारतीय सब्जी अनुसंधान संस्थान का भ्रमण तथा  किसान वैज्ञानिक संवाद का किया संबोधन  अतिरिक्त सचिव, कृषि एवं किसान कल्याण मंत्रालय, भारत सरकार द्वारा भाकृअनुप-भारतीय सब्जी अनुसंधान संस्थान का भ्रमण तथा  किसान वैज्ञानिक संवाद का किया संबोधन

डॉ. लिखी ने मुख्यतः मशरूम उत्पादन, चेरी टमाटर, बेबीकार्न एवं मधुमक्खी पालन पर विशेष ध्यान देने पर जोर दिया एवं संस्थान को इन क्षेत्रों में परियोजना बनाने की सलाह दी। इसके अलावा मुख्य अतिथि ने एग्रो-स्टार्ट अप को बढ़ावा देने के लिए संस्थानों से तकनीकी सहायता तथा किसान समूह (एफपीओ) को मुख्य धारा में लाने का आह्वान किया। हालांकि, अतिरिक्त सचिव ने विभिन्न एग्रो-स्टार्ट अप को संस्थानों से तकनीकी मार्गदर्शन देने के लिए कहा जिससे किसान समूहों को संस्थानों द्वारा विकसित तकनीक तथा अनुसंधान उन तक पहुँचायी जा सके तथा किसानों को मार्केटिंग चैनल से जोड़ा जा सके।

चर्चा के दौरान संयुक्त सचिव, कृषि एवं किसान कल्याण मंत्रालय, भारत सरकार, श्री प्रिया रंजन; आयुक्त बागवानी, भारत सरकार, डॉ. प्रभात कुमार एवं तरंनुम कादरभाई, लाइजन अधिकारी इन्डोडच, सी.ओ.ई.एस. ने अपने विचार व्यक्त किए।

संस्थान के निदेशक, डॉ. तुषार कांति बेहेरा ने मुख्य अतिथि का स्वागत किया तथा संस्थान में हो रही अनुसंधान गतिविधियों तथा तकनीकों के बारे में अवगत कराया।

कुछ किसानों ने सब्जी उत्पादन से संबन्धित विषयों पर अपने अनुभव को भी साझा किए।

कार्यक्रम के अंत में, डॉ. पी.एम. सिंह, विभागाध्यक्ष, फसल सुधार विभाग ने धन्यवाद ज्ञापन किया।

इस कार्यक्रम में संस्थान के सभी वैज्ञानिक, प्रगतिशील किसान, एफपीओ एवं कृषि विभाग के अधिकारियों ने भाग लिया।

(स्रोत: भाकृअनुप-भारतीय सब्जी अनुसंधान संस्थानवाराणसी)