भाकृअनुप-निवेदी, बेंगलुरु में राष्ट्रीय पशु रोग केन्द्र की स्थापना के लिए बैठक का आयोजन
भाकृअनुप-निवेदी, बेंगलुरु में राष्ट्रीय पशु रोग केन्द्र की स्थापना के लिए बैठक का आयोजन

5 अप्रैल, 2024, बेंगलुरु

भाकृअनुप-राष्ट्रीय पशु चिकित्सा महामारी विज्ञान और रोग सूचना विज्ञान संस्थान, बेंगलुरु ने श्रीमती अलका उपाध्याय, सचिव, पशुपालन एवं डेयरी विभाग, भारत सरकार की अध्यक्षता में एक महत्वपूर्ण बैठक आयोजित की।

001   002

श्रीमती उपाध्याय ने पशुधन रोग महामारी विज्ञान में संस्थान की प्रगति एवं रोग के पूर्वानुमान और चेतावनी के प्रति इसके सक्रिय दृष्टिकोण पर जोर दिया। उन्होंने रोगाणुरोधी प्रतिरोध और रोगाणुरोधी उपयोग से निपटने के लिए एक सहयोगी राष्ट्रीय परियोजना की भी वकालत की।

भारत सरकार के पशुपालन एवं डेयरी विभाग के आयुक्त, डॉ. अभिजीत मित्रा ने राष्ट्रीय पशु रोग नियंत्रण कार्यक्रमों के प्रबंधन में संस्थान के प्रयासों की सराहना की, विशेष रूप से ब्रुसेलोसिस, पीपीआर और सीएसएफ जैसी बीमारियों को लक्षित किया।

भारत सरकार के पशुपालन और डेयरी विभाग की अतिरिक्त सचिव (सीडीडी/ आईटी), श्रीमती वर्षा जोशी ने रोग प्रबंधन में एआई और मशीन लर्निंग के उपयोग के महत्व पर जोर दिया।

भारत सरकार के पशुपालन एवं डेयरी विभाग की संयुक्त सचिव (एलएच), श्रीमती सरिता चौहान ने सभी परियोजनाओं में जूनोटिक रोग अध्ययन और सार्वजनिक जागरूकता को एकीकृत करने की आवश्यकता पर प्रकाश डाला।

भारत सरकार के पशुपालन और डेयरी विभाग के संयुक्त सचिव (प्रशासन/ व्यापार/ जीसी/ आईसी), श्री जी.एन. सिंह ने पशुधन उत्पादों के निर्यात को बढ़ाने का आग्रह किया।

बैठक के दौरान डॉ. भूषण त्यागी, संयुक्त आयुक्त (आरजीएम), पशुपालन एवं डेयरी विभाग, भारत सरकार और अन्य अधिकारी उपस्थित थे।

भाकृअनुप-निवेदी के निदेशक, डॉ. बी.आर. गुलाटी ने संस्थान की प्रोफ़ाइल पर प्रकाश डाला तथा राष्ट्रीय डिजिटल पशुधन मिशन के हिस्से के रूप में राष्ट्रीय पशु रोग सूचना तथा नियंत्रण केन्द्र की स्थापना की योजना प्रस्तुत की।

(स्रोत: भाकृअनुप-राष्ट्रीय पशु चिकित्सा महामारी विज्ञान एवं रोग सूचना विज्ञान संस्थान, बेंगलुरु)

×